Ad Code

Ticker

6/recent/ticker-posts

Deepawali 2019 क्यों मनाया जाता हैं दिपावली का त्यौहार

Deepawali 2019 क्यों मनाया जाता हैं दिपावली का त्यौहार

Dipawali ka tyauhar kyo manaya jata hai

आज हम सभी बहुत खुश हैं कारण यह है कि दिपावली का त्यौहार आने वाला हैं यह त्यौहार पांच दिन का पर्व  होता है। इनमें से दिपावली का त्यौहार को बड़ी धूमधाम श्रृद्धा और प्रेम से मनाते है। यह त्यौहार कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को मनाया जाता है जो इस बार 27 October को जायेगी ।

क्यो मनाई जाती हैं दीपावली ? Why celebrate festival of Dipawali


कहते हैं कि श्री रामचंद्र जी 14 वर्ष का वनवास भोगकर इस दिन अयोध्या (Ayodhya) आए थे। उनके लौटने की खुशी में सभी अयोध्या वासियों ने घर घर में दीप जलाकर खुशियां मनाई थी। उसी की याद में यह पर्व मनाया जाता है। दूसरा कारण यह भी हैं कि इस october तक सभी किसान भाई अपनी खेती बाड़ी से निवृत हो जाते हैं अर्थात फसल को समेट कर धन धान्य से परिपूर्ण हो जाते हैं और अगली फसल की बुवाई  (November) से पहले खुशियां मनाते हैं ।

जैन अनुयायी भी मनाते हैं दीपावली

महावीर स्वामी का निर्वाण दिवस इसलिए सभी जैन समुदाय भी इस दिन खुशियां मनाते है। स्वामी दयानंद के निर्वाण का दिवस भी दिपावली होने के कारण सभी हिंदू में उत्साह के साथ मनाते है।
Dipawali ki rat lakshmi pujan kyo kiya jata hai


दीपावली की रात क्यो किया जाता है लक्ष्मी पूजन -

इस दिन सभी धन की देवी लक्ष्मी की पूजा करते हैं पर कहते हैं मां लक्ष्मी चंचला है इसलिए प्रभू श्री नारायण (Lord of Vishnu) और लक्ष्मी दोनों की साथ पूजा का बहुत महत्व है। सभी इस त्योहार की खुशियां मनाने से पहले बहुत तैयारीया करते है जैसे घर की साफ-सफाई, नये कपड़े पहनना, नये बर्तन खरीदना इत्यादि । धनतेरस (Dhanteras) पर नये आभूषण खरीदने की परंपरा भी है। दीपावली (Deepawali) के दिन घरों में मिठाई मनाई जाती है। पटाखे व फुलझड़ियां आदि छुड़ाकर खुशियां मनाते हैं । फिर में सभी देवी देवताओं की पूजा की जाती है। दिपावली के दूसरे दिन गोवर्धन (Gowardhan) पूजा भी की जाती है बजरंगबली की पूजा दिपावली के पहले की जाती है। इस तरह पांच-दिवसीय यह त्योहार (Five days festival) हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है कारण यह है कि इसमें संस्कार और संस्कृति छुपी हुई है जो हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए सबक भी देकर जाती है। इस तरह हम सभी दीपोत्सव का त्यौहार धूम धाम से मनाते है।

Lakshmi pujan kaise kare


श्रीमती ममता वैरागी तिरला धार
Post Navi

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Ad Code