Ad Code

Ticker

6/recent/ticker-posts

सर्दियों के मौसम में कैसे रखें अपना ख्याल, winter health tips

सर्दियों के मौसम में कैसे रखें अपना ख्याल । winter health tips in hindi


How to health care in winter season


मौसम तेजी से करवट ले रहा है। रात के समय ओस की बूंदें भी गिरती हैं। इस मौसम में विभिन्न प्रकार के कीटाणु व बैक्टीरिया के पनपने की आशंका काफी बढ़ जाती है, जो कई तरह की बीमारियों का कारण बनते हैं । इस मौसम में कैसे रखें खुद को सुरक्षित हम आज आपको बता रहे हैं । बदलता मौसम अपने साथ कई चुनौतियां लेकर आता है । चिकित्सा विज्ञान के अनुसार मौसम का सीधा असर स्वास्थ्य पर पड़ता है । एलोपैथ, आयुर्वेद व होम्योपैथी इन तीनों चिकित्सा विज्ञान में जिक्र किया गया है कि बदलता मौसम ऐसा वक्त होता है, जब रोग काया में घर करने लगते हैं । इन दिनों रोगों से ग्रसित होकर हॉस्पिटल पहुंचने वाले मरीजों की संख्या बढ़ने लगती है ।

How to health care in winter season.

जब मौसम में बदलाव होता है तो वह हमारी इम्यूनिटी को भी बदल देता है। इससे एलर्जिक और वायरल संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है । जिन लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है या कमजोर मरीजों को शिकार बनाने में वायरस सफल रहता है । इससे वायरल बुखार व सर्दी- खांसी होने का खतरा बना रहता है । ऐसे में सांस के रोगी, डायबिटीज व टीबी के मरीजों को बेहद सावधान रहने की जरूरत होती है । पिछले कुछ समय से मौसम में आ रहे बदलाव का सीधा असर लोगों के स्वास्थ्य पर पड़ रहा है । अब दिन में तो गर्माहट महसूस होती है, पर सुबह- शाम काफी ठंड पड़ती लगी है । ऐसे में थोड़ी सी लापरवाही से भी स्वास्थ्य खराब हो सकता है । अभी खांसी, जुकाम और वायरल बुखार के बहुत अधिक मरीज देखने को मिल रहे हैं । बदलते मौसम के दौरान सावधानी नहीं बरते जाने पर लोग वायरल बुखार से पीड़ित हो सकते हैं । बुखार अधिक दिनों तक रह जाए तो व्यक्ति निमोनिया या फेफड़े के संक्रमण का भी शिकार हो सकता है । इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि आप कुछ सावधानियां बरतें ।

दिल को बचाएं ठंड से -
बढ़ रही सर्दी का हृदय रोगों से गहरा संबंध होता है। इसकी वजह से हृदय व रक्त संचार प्रभावित होते हैं। जैसे-जैसे ठंड बढ़ती है, खून का दौरा यानी ब्लड सर्कुलेशन कम होता जाता है । ऐसे में  रक्त धमनियां सिकुड़ जाती हैं । इस कारण दिल के मरीजों में हार्ट अटैक की आशंका बढ़ जाती है । इस मौसम में दिल और उच्च रक्तचाप के रोगियों को अपना खास ख्याल रखना चाहिए । ठंडे मौसम की वजह से दिल की धमनियां सिकुड़ जाती हैं, जिससे दिल में रक्त और ऑक्सीजन का संचार कम होने लगता है । इससे हाइपरटेंशन और दिल के रोगों वाले मरीजों में ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है । ठंडे मौसम में ब्लड प्लेट्लेट्स ज्यादा सक्रिय और चिपचिपे होते हैं, जिससे रक्त के थक्के जमने की आशंका बढ़ जाती है । उच्च रक्तचाप के मरीज 40 साल की उम्र के बाद रक्तचाप की जांच कराते रहें । ब्लड प्रेशर, शुगर व कोलेस्ट्रॉल की नियमित जांच भी जरूरी है ।

सांस के रोगियों की सांसत -
बदलते मौसम में 60 से 70 प्रतिशत ज्यादा खांसी व दमा की बीमारियां बढ़ जाती हैं । लापरवाही के कारण खांसी व दमा की बीमारियों का खतरा बढ़ता है। सामान्य मौसम में नाक से ठंडी हवा प्रवेश करने पर गर्म होकर फेफड़ों तक पहुंचती है, जबकि इस मौसम में यह हवा गर्म नहीं हो पाती । इससे खांसी होती है, जिसका अस्थमा से पीड़ित लोगों के फेफड़ों पर ज्यादा बुरा प्रभाव पड़ता है । लगातार ऐसा होने से फेफड़ों में संक्रमण हो जाता है । इससे सांस के रोगियों को सांस लेने में तकलीफ होती है । समय पर इलाज न होने से निमोनिया का खतरा बढ़ जाता है ।

डायबिटीज है तो संभल जाएं -
जिन लोगों को डायबिटीज की समस्या आनुवंशिक है, उन्हें तुरंत अपने वजन पर नियंत्रण कर लेना चाहिए। डायबिटीज का र्फांस्टग लेबल 110 के नीचे और खाना खाने के बाद का 180 के नीचे रहना चाहिए । हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को हार्ट अटैक का खतरा रहता है, उन्हें ब्रेन हैमरेज भी हो सकता है। सर्दी में गर्म कपड़े पहनें, ब्लड प्रेशर नियंत्रित रखें ।

Winter health tips in hindi

सर्दियों में स्वस्थ रहने के लिए करे ये उपाय

Winter health tips in hindi.

1. अवसाद और तनाव से बचें 
बदलते मौसम में अकसर लोग अवसाद या तनाव के भी शिकार हो जाते हैं । ऐसे लोग ज्यादा चीनी, ट्रांसफैट और सोडियम व ज्यादा कैलोरी वाला भोजन खाने लगते हैं जो मोटापे, दिल के रोगों और हाइपरटेंशन से पीड़ित लोगों के लिए खतरनाक हो सकता है । शरीर के वजन को नियंत्रित रखें । शाकाहारी बनें, हरी सब्जियां, सलाद का सेवन करें ।

2. खानपान का रखें ख्याल
बदलते मौसम में नियमित रूप से व्यायाम और संतुलित व पौष्टिक भोजन का सेवन करें। बादाम और पिस्ते का सेवन हृदय रोगियों के लिए लाभदायक है। ग्रीन टी व विटामिन डी से भरपूर भोजन का सेवन करें।

3. एक कप गर्म चाय :- सर्दियों में अदरक, तुलसी और काली मिर्च वाली एक कप गर्म चाय सर्दी से राहत पाने का असरदार घरेलू अपाय है। सूप उबालते समय उसमें लहसुन की कुछ कलियां जरूर डाल दें। इससे सर्दी-जुकाम में शीघ्र लाभ मिलता है ।

3. गर्म पानी का उपयोग बेहद फायदेमंद होता है। खाना खाने के एक घंटा पहले और खाना खाने के आधे घंटे बाद ही पानी पिएं ।

4. सब्जियों के साथ-साथ अपने आहार में आंवला,  ब्रह्मी, तुलसी, एलोवेरा, अदरक, इलायची, अजवाइन, सौंफ आदि भी शामिल करें।

5. खट्टी-मसालेदार, तली हुई चीजें इस समय बिल्कुल भी न खाएं।

6. ठंडी चीजें जैसे आइसक्रीम, कोल्र्ड ड्रिंक न लें।

7. हरी पत्तेदार सब्जियां, घर का बना खाना आदि लें

8. ऊनी कपडों को पहने रखें
हम ज्यादातर कपडे न पहनने के कारण बीमार हो जाते हैं तो कपडे पहनकर रखें क्योंकि ठंड लगने के कारण लोग सबसे अधिक बीमार पडते हैं क्योंकि हमारे बुजुर्गों ने कहा है कि सबसे बडा खुश निरोगी काया ही होती है ।

सचिन स्वराज
Post Navi

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Ad Code