Ad Code

Ticker

6/recent/ticker-posts

International woman's day क्यों मनाया जाता है ?

Why celebrate International woman's day ?

International woman's day
भारत प्राचीन काल से महिला शक्ति का देश रहा है । जहॉ महिलाओं का इज्जत किया जाता है । भारत देश मे कितने ही त्योहार व दिवस मनाये जाते है । इन्ही त्योहार व दिवस में से एक है अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस ( International woman's day ) । यह दिवस दुनिया भर में 8 मार्च को मनाया जाता है । चाहे विकसित हो या विकासशील देश । वुमन राइट्स के बारे में बात करें तो महिला दिवस के दिन औरतों की सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक अधिकारों के बारे में चर्चा की जाती है। साथ मे यह भी चर्चा किया जाता है महिलाओं की तरक्की के विविध पहलुओं के लिए किस तरह का कार्य किया जाना चाहिए।

महिला दिवस की ऐसे हुई थी शुरुआत

19 वीं सदी आने से पहले ही महिला स्वयं की अधिकारों के बारे में जानना शुरू कर दिया था। महिलाएं अपने अधिकारों को लेकर सुगबुगाहट पैदा होने के बाद सन् 1908 में 15000 महिलाओ ने अपना मत का अधिकार मांगना शुरू कर दिया। उसके साथ-साथ कर रहे कार्य की अच्छे वेतन के साथ कार्य करने के समय को कम करने की मांग को लेकर मार्च निकाला । 28 फरवरी 1909 को पहली बार यूनाइटेड स्टेट्स में राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया । अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की पहल सबसे पहले जर्मनी के क्लारा जेडकिंट ने 1910 में रखा। दुनिया के हर महिलाओं को अपने बात कहने या रखने के लिए अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाना चाहिए। इस बात को ध्यान मे रखते हुए एक सम्मेलन आयोजित किया गया जिसमें 17 देशों के 100 महिलाएं इस सम्मेलन में शामिल हुई और जिस कार्य के लिए अर्थात् अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने को मंजूरी मिल गया । सर्व प्रथम सबसे पहले अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस सन् 19 मार्च 19 11 को आस्ट्रेलिया, जर्मनी, डेनमार्क और स्विट्जरलैंड में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया । इसके बाद सन् 1913 में बदलकर इसे 8 मार्च कर दिया गया। पहली बार सन् 1975 में संयुक्त राष्ट्र संघ ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया।
Bhart me mahilao ki sthiti

अंतराष्ट्रीय महिला दिवस की स्थिति -

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के दिन  कुछ देशों में अवकाश घोषित किया जाता है। अफगानिस्तान, अंगोला, बेलारूस, कजाकिस्तान इत्यादि (अवकाश घोषित देश)। यहां कुछ ऐसा देश भी है जहां पर अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के छुट्टी  घोषित किया जाता है, लेकिन सिर्फ महिलाओं के लिए वह देश चीन, नेपाल, मकदूनिया और मेडागास्कार हैं। कुछ ऐसा भी देश है जहां अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (8 मार्च) को छुट्टी घोषित नही किया जाता है लेकिन इसे पैमाने में मनाया जाता है। यह सब उसमें शामिल है :- चिली, बुलगारिया, रोमानिया, क्रोशिया और कैमरून। अपने जीवन में उपस्थित महिलाओं को अलग-अलग प्रकार के तोहफे दिया जाता है।


अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस भारत में - International woman's day in India :

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस भारत में भी बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के शुभ अवसर पर जगह-जगह पर महिलाओं के लिए सम्मान समारोह आयोजित किया जाता है। साथ ही जो महिलाएं समाज के अलग-अलग क्षेत्रों में अच्छा प्रदर्शन के लिए महिलाओं को सम्मानित किया जाता है। भारत में ऐसे कई संस्था व संगठन है जो महिलाओं के लिए कार्य करते है। इस दिन विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण शिविर व सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया जाता है। भारत मे बहुत से संस्था व संगठन है जो गरीब महिलाओं की आर्थिक मदद की घोषणा करते है।

◆ पढ़े लोकप्रिय पुस्तक Women have All the power

Hindi chhand  जानिए अनुकूला छंद ( वर्णिक छंद ) कैसे लिखे

भारत में महिलाओं की स्थिति - status of  woman in India -

 भारत में महिलाओं को मौलिक, मतदान और शिक्षा का अधिकार तो प्राप्त है लेकिन अभी भी अधिकार प्राप्त होते भी स्त्रियां अभावों में जिंदगी ब्यतित कर रही हैं। हमारे देश का समाज रहा है उसके बाद भी हमारे देश का कोई भी स्थान ऐसा नही है जो स्त्रियों से अछूता हो चाहे वह कोई भी क्षेत्र हो फिल्म जगत हो, इंजीनियरिंग हो या मेडिकल, उच्च शिक्षा हो या प्रबंधन हर क्षेत्र में स्त्रियां पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं,बल्कि ये कहे कि पुरुषों की तुलना में स्त्रियां आगे है। अब बेटे और बेटी के बीच फर्क नही है । दोनों एक समान है। लेकिन हमारा ये समाज शिक्षित होते हुए भी बेटो की चाह रखता फिर रहा है हमारा समाज यह भूल गया है कि अब स्त्रियां भी पुरूषों के साथ कंधे से कंधे मिलाकर चल रही है। फिर भी हमारे समाज के कुछ लोग भ्रूण हत्या करने से नही डरते और ना ही लिंग जांच कराने मे। स्त्रियों के सामने खुला आसमान और विशाल धरती है। जिससे वो  अपना नाम रोशन के साथ परचम भी लहरा सकती है। अपने माता-पिता के साथ अपने देश का नाम भी रोशन करेगी ।

मित्रों आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेंट करके बताये ।। परमानंद निषाद ।।

Post Navi

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Ad Code