Ad Code

Ticker

6/recent/ticker-posts

Hindi chhand जानिए भारती छंद कैसे लिखें

 Hindi chhand जानिए भारती छंद कैसे लिखें 

Bhari chhand kaise likhe


भारती छंद एक साहित्यिक छंद विधा है । इसे कैसे लिखा जाता हैं । क्या मात्रा भार होता हैं आइये जानते हैं :- भारती छंद (वर्णिक छंद)

Bharti chhand vidhan 

विधान - चार पदिक छंद है , प्रत्येक पद में 11 वर्ण होते हैं और पदांत में लघु गुरु होता है । 6वें वर्ण के बाद यति होता है । दो - दो पद में तुकान्तता होती है । उदाहरण के लिए कुछ छंद प्रस्तुत है :-

मापनी - ममयलल

222 - 222 , 122 - 12 (6 , 5)

शीर्षक -  साजन

विधा - भारती छंद 

परिचय - एकादशाक्षरावृत्ति

यति - (6, 5)

गण संयोजन - ममयलग

(  222- 222, 122- 12)


मेरी आँखों में तू,  समाये पिया ।

धीरे - धीरे मेरा, चुराये  जिया ।।

दीवानी  मस्तानी,  हुई   साँवरे ।

आ भी जाओ मेरे, लिए बावरे ।।


For more updates

Hindi chhand जाने अनुकूला छंद कैसे लिखे 

नैनों   से   नैनों   की,   हुई बात है ।

होती मीठी -  मीठी, मुलाकात है ।।

बातों  ही  बातों  में, खुला  राज है ।

अच्छाई   पे   तेरी,  मुझे  नाज है ।।


बाधाओं को झेली, गमों को पिया ।

मंशा वाचा  से हूँ,  तुम्हारी  प्रिया ।।

जीती  जाती  मैं  हूँ,  तुम्हारे  लिए ।

मुस्काते   तेरे   ही,   सहारे   जिए ।। 

छप्पय छंद की परिभाषा, विधान एवं उदाहरण

मेरा  कृष्णा  है तू,  बड़ा   बावरा ।

मैं हूँ राधा रानी,  करूँ   आसरा ।।

देखूँ चाहूँ  साथी,   निबाहूँ   सदा ।

पीछे - पीछे आऊँ, करूँ वायदा ।।


रिश्ता ऐसा दूजा,  कहाँ   प्रीत  का ।

प्यारा सा है किस्सा, पगे मीत का ।।

पूरी    हो     मेरी   ये,  मनोकामना ।

है   पंछी  जोड़े  की, जुड़ी  भावना ।।


सुकमोती चौहान "रुचि"

बिछिया, महासमुन्द, छ.ग.

Post Navi

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Ad Code