Ad Code

Ticker

6/recent/ticker-posts

Love Story. क्या जान देना ही प्यार हैं ? पढ़े रोचक प्रेम कहानी

Love Story. क्या जान देना ही प्यार हैं ? पढ़े रोचक प्रेम कहानी



Kya jaan dena hi pya hai.

Love story. आज के दौर में देखा जाये तो आजकल के लड़के प्यार में बडी बडी बाते करते हैं मोटी मोटी डींगे हाँकते हैं । शायद वो लड़कियों को अपने प्रेम जाल में फ़साने के लिए करते हैं या हकीकत है ये तो वक़्त आने पर ही पता चलता है ।

मित्रों मेरी कहानी बहुत ही रोचक प्रेम कहानी है । क्योंकि जीवन का सबसे बड़ा सच सुनने को मिला जिसे कुछ लोग उम्र के उस पड़ाव में पहुचकर महसूस करते है । असल में शादी के प्यार में कई उतार चढ़ाव का सामना करना पड़ता है बल्कि मेरा मानना है कि प्यार को बांटना पड़ता है कभी खुद के साथ, कभी बच्चों के साथ और कभी अपने पति के साथ । तो चलिए जानते है - 

क्या जान देना ही प्यार है । Kya jaan dena hi pyar hai ?


Also read -

प्यार क्या होता हैं । What is love.

मेरी Love story इन सबसे हटकर हैं । मैं शीतल मुझे जो हमसफ़र मिला वो सबसे अलग था किसी लड़के के मेरा यह पहला अनुभव था । मुझे लगता हैं वह हमेशा सच बोलता था और झूठ सिर्फ इतना बोलता की उसे सच मे तब्दील कर सके । प्रेम सागर में बहकर मीठी मीठी बातें भी करता था मगर सीमित होकर । जैसा दिखता वैसा ही अंदर से था और इसी अदा पर मैं फिदा हो गई और एक दिन उसे अपने प्यार का इज़हार कर बैठी ।

प्रेम के इस मौसम में लोग साथ जीने मरने की कसमें खाते हैं और न जाने क्या क्या.. । जब उनसे पूछा की तुम जिन्दगी ऐसे ही प्यार करोगे । उनका जबाब सुनकर में दंग रह गई ... पता नहीं... बस उसने दो टूक में उतर दिया । मैं तो अपसेट हो गई अजीब लड़का हैं कोई भला अपनी प्रेमिका को ऐसे कैसे कह सकता हैं ? मैं निराश होकर घर लौट आई । उसने रोकने की कोशिश की मगर में रुक नहीं पाई ।

अब उससे मिलना भी नहीं चाहती बस भूल जाना चाहती थी लेकिन जब भी वो फोन करता तो न चाहते हुए भी जाना पड़ता था और हमारी मुलाकातों का दौर जारी था फिर मैंने सोचा एक बार फिर प्रयास करे हो सकता जीवन भर साथ निभाने का वादा स्वीकार कर ले ।


एक दिन हम दोनों नदी के किनारे स्थित एक उपवन में मैं सुबोध की गोद में सिरहाने रख लेटी हुई बोली
:- सुबोध तुम मुझसे कितना प्यार करते हो ?
:- बहुत... इतना कि शब्दों में बयां नहीं कर सकता । सुबोध ने मुस्काते हुए कहा ।
:- सच ..? शीतल ने भी मुस्काते हुए पूछा ।
:- हा ..क्यों ? मुझ पे विस्वास नहीं है । देखो ये सुहानी सांझ.... ये प्यार का बजता मधुर संगीत और मुस्काती हुई मेरी शीतल .. जिसे मेरे दिल के तार झनझना उठते हैं ।
Prem kahani.


:- सच मे मैं भी तुमसे बेइंतहा प्यार करती हूँ और जिंदगी भर करती रहूँगी । ऐसा कहती हुई शीतल सिरहाने से बैठी हुई और आंखों में आंखे डाल कर बोली
:- एक बात पुछु सुबोध ।
:- हा पूछो प्रिये.. आज तो हम बहुत बहुत खुश है ।
:- क्या तुम ऐसे ही जिंदगी भर प्यार करते रहोगे ?
सुनकर सुबोध क्षण भर के लिए विचार में पड़ गया फिर बोला |

:- तुम जानती हो कि मैं झूठ नहीं बोलता । आज जो प्यार उमड़ा हैं उसे जी भर के जियो ।
:- मतलब .. । शीतल ने पूछा
:- मतलब कि मैं तो क्या कोई भी जिंदगी भर ऐसे ही एकदा प्यार नहीं कर सकता । सुनकर शीतल गम्भीरता से बोली |

:- क्यों झूठ बोल रहे हो सुबोध ... मेरे अंकल आंटी को देखो ... मेरी सहेली शेया को देखो और तो औऱ लैला मजनू और कितने बताऊ जिन्होंने जिंदगी भर प्यार किया हैं । रही बात मेरी तो मै तुम्हारे लिए अपनी जान दे सकती हूँ । सुनकर सुबोध भी गम्भीरता से बोला
:- शीतल तुम भी कितनी भोली हो उन्हें कभी एकांत में जाकर पूछना वो कितने झूठ बोलते होंगे ? हमे उनके प्यार पर शक नहीं हैं दरअसल जहां प्यार है वहाँ टकरार हैं औऱ जहां टकरार हैं वहां एकसा प्यार कहा हैं । लैला मजनू की बात अलग हैं बात करती हो मुझ पर जान देने की ...।
:- तुम्हें मुझ पर विश्वास नहीं है चलो मैं अपनी जान देकर साबित करती हूँ । ऐसा कहती हुई गुस्से में शीतल नदी की ओर चल दी । कुछ कदम चली थी कि पीछे से सुबोध ने आवाज देकर रोक दी और पास जाकर बोला -

:- माना कि आज तुम हमारे लिए जान दे सकती हो पर क्या आज से दस साल बाद अपनी जान दे पाओगी ? क्या मौसम हमेशा एक जैसा रहता हैं ? इस नदी के जल को गौर से देखो क्या ये हमेशा शांत रहता हैं ? नहीं ना... क्योंकि परिवर्तन होता रहता है । परिस्थियां बनती रहती हैं बिगड़ती रहती हैं । पर हर परिस्थिति में एक दूसरे की भावनाओं की कद्र करनी चाहिए । जान देने के बजाय एक दूसरे को समझने की जरूरत है तभी बिना किसी वादे से जीवन भर साथ निभा सकते हैं । सुनकर शीतल सुबोध के गले लग गई ।


✍🏻 एल आर सेजु थोब "प्रिंस"
Post Navi

एक टिप्पणी भेजें

6 टिप्पणियाँ

  1. क्या दिन थे वो
    जब दोनों साथ हुआ करते!

    जब होठों पर हंसी
    दिल मे बेतहा प्यार हुआ करता!

    जब तुम थे हंसी
    मै भी जवां हुआ करता!

    क्या दिन से वो
    जब दोनों साथ हुआ करते!
    Anita panchal
    Gurugram
    neetu8860116360@gmail.com

    जवाब देंहटाएं
  2. I am really surprised by the quality of your constant posts.
    Hi. Sir.. You really are a genius, I feel blessed to be a regular reader of such a blog Thanks so much.. -অনলাইন কাজ💕💋 font copy and paste
    muchLove quotes in hindi
    very sad What'sapp dp
    SAD STATUS IN HINDI FOR WHAT'SAPP STATUS

    जवाब देंहटाएं
  3. हकीकत यही है।बेहतरीन कहानी।

    जवाब देंहटाएं

Ad Code