Ad Code

Ticker

6/recent/ticker-posts

Third eye chakra तीसरी आंख को एक्टिवेट कैसे करें

How to activate your third eye permanently 

How to activate your third eye permanently


Third eye chakra कुदरत ने मनुष्य को असीमित शक्तियां प्रदान की है मगर वह सीमित शक्तियां का इस्तेमाल कर पाता है । इन असीमित शक्तियों को Activate करने के लिए विशेष योग - साधना करनी पड़ती है । तीसरी आंख या आज्ञा चक्र या Ajna  ( How to activate your Third eye permanently ) के बारे में शायद अपने सुना होगा लेकिन आपने ये तीसरी आंख सिर्फ शिव या देवी देवताओं के चित्रों में या सीरियल में देवी देवताओं का अभिनय करने वालों पर देखा होगा परंतु आपको यह पता है कि यह Third eye सभी मनुष्यों के पास है ।


Third eye chakra तीसरी आंख को एक्टिवेट कैसे करें

 बस मनुष्यों को इसके बारे में ज्ञान नही है ना ही वो इसके बारे में कभी ज्ञान अर्जित करने हेतु प्रयास करते हैं। Third Eye Activate होने से मानव को बहुत Benefits है मगर तीसरी आँख को स्थायी रूप ( Permanently ) से Activate करने के लिए Third eye Technique की आवश्यकता होती है । हमारे शरीर में ऊर्जा का केंद्र स्थित है जिसे ऊर्जा चक्र कहते हैं इन ऊर्जा चक्रों में असीमित ऊर्जा का भंडार है। हर चक्र की अलग ऊर्जा होती है तथा हर चक्र की अलग प्रकार की शक्तियां है। ये चक्र सात प्रकार के होते हैं जिनके नाम है -

  • मूलाधार चक्र - मूलाधार चक्र रीढ़ की हड्डी के सबसे निचले भाग से सम्बंधित है। नकारात्मक ऊर्जा को सकारात्मक ऊर्जा में यही से बदलने की प्रक्रिया शुरू होती है।
  • स्वाधिस्ठान चक्र - स्वाधिस्ठानचक्र जननेद्रिय के पीछे रीढ़ में स्थित होता है तथा मनुष्य के अचेतन मन से सम्बंधित होता है।
  • मणिपुर चक्र - मणिपुर चक्र नाभि के पीछे स्थित होता है, यह चक्र आत्मविश्वास को बढ़ाता है साथ ही निर्णय लेने की छमता को भी बढ़ाता है। 
  • अनाहत चक्र - अनाहत चक्र हृदय में रीढ़ की हड्डी पर स्थित होता है। यह चक्र खुलने पर आपमें दया और करूणा की भावना विकसित होती है।
  • विशुद्धि चक्र - विशुद्धि चक्र गले में स्थित हैं तथा ये चक्र खुला हो तो अंदर से प्यूरीफायर का काम करता है।
  • आज्ञा चक्र - आज्ञा चक्र दोनो भौंहों के बीच थोड़ा ऊपर स्थित है। इसे खोलने के पश्चात एक असीम ऊर्जा का संचार प्रवाहित होने लग जाता है दूरदर्शी होने के साथ आत्मीयता की भावना का भी संचार होता है। 
  • सहस्त्रार चक्र - सहस्त्रार चक्र सिर के ठीक उपर स्थित होता है, यह चक्र बुद्धिमत्ता को बढ़ाता है।यह चक्र मनुष्यों को ज्ञान की तरफ ले जाने हेतु सहायक है। इन सभी चक्र की ऊर्जा में ब्रह्मांड की उर्जाओं का भंडार है जिसे योग द्वारा जागृत किया जा सकता है। इन केंद्रों में असीमित ऊर्जा का भंडार है जिसे मानव अपने लक्ष्यों के पूर्ति हेतु उपयोग कर सकता है। इनमें से एक चक्र है तीसरी आंख या आज्ञा चक्र । How activate third eye chakra Permanently.

◆ Anahat naad mediation क्या है ? अनाहत नाद से दिव्य आवाज कैसे सुने 


थर्ड आई चक्र क्या है ? What is Third Eye Chakra in hindi ?

Third eye chakra. थर्ड आई या आज्ञा चक्र या तीसरी आंख या फिर ज्ञान चक्षु आप कुछ भी कह सकते हैं। यह अंतर्मन के चक्षु होते हैं बाहरी चक्षुओं से तो हम सब परिचित हैं लेकिन भीतर के चक्षु के बारे में सभी लोग नही जानते हैं। 

थर्ड आई चक्र भीतर के चक्षु होते हैं जिनसे हम आपार शक्तियों के बारे में जान सकते हैं साथ ही भौतिक जगत के दुखों से छुटकारा प्राप्त कर सकते हैं।


तीसरी आंख का रहस्य व विज्ञान - The mystery and science of the third eye.

ईश्वर ने हमें दो आंखें प्रदान की है जिससे हम भौतिक दुनिया को देख सकते हैं साथ ही उसका आनंद ले सकते हैं परंतु इसके अतिरिक्त भी ईश्वर ने एक और आंख प्रदान की है जिससे हम अपने भीतर देख सकते हैं (जैसे कि मन की आंखे) और अपनी शक्तियों के बारे में जान सकते हैं और उनका उपयोग कर सकते हैं। इसका केंद्र दोनों भौहों के बीच में स्थित है और इसको योग क्रियाओं के द्वारा जागृत किया जा सकता है इसकी शक्तियों के बारे में बात करना थोड़ा मुश्किल है क्यों किसकी शक्तियां सीमित होती है जिस को शब्दों में नहीं लिखा जा सकता है। 

वैज्ञानिकों ने इसके बारे में बहुत जानने का प्रयास किया और रिसर्च किया जिससे इसके बारे में यह परिणाम प्राप्त हुआ किस दोनों भौंहों के बीच एक पीनियल ग्लैंड नामक ग्रंथि है। यह ग्रंथि सक्रिय होने के परिणाम स्वरूप तीसरी आंख खोलने की प्रक्रिया प्रारंभ होती है या प्रक्रिया हमें अपने मन की शक्तियों से जोड़ती है साथ ही हमारे शरीर के भीतर असीमित ऊर्जा का जो भंडार है उसे जागृत करती है । third eye activate in hindi.


तीसरी आँख सक्रिय होने के संकेत - Signs of third eye activation -

Third eye activate होने से पहले आपको कुछ संकेत भी प्राप्त हो सकते है । जैसे कोई घटना घटित होने से पहले जानकारी प्राप्त होना, सपनो का सच होना, मानसिक शांति का अनुभव होना या दुःख की अनुभूति न होना, 6th sense का आभास होना, साफ सुनना इत्यादि । आपकी Daily life में आपको बदलाव महसूस होगा ।


Benefits of third eye activation

थर्ड आई चक्र सक्रिय होने के फायदे - Benefits of third eye activation

● थर्ड आई खुलने से अलौकिक शक्ति का आभास होने लगेगा । एक नई ऊर्जा का संचार होगा जिसे आपकी दृश्य एवं श्रवण शक्ति बहुत ज्यादा प्रबल हो जाएगी ।

● Third Eye activate होने से आप अदृश्य चीज़ों के बारे में जान सकते है । आपका अनुमान एकदम परफेक्ट साबित होगा । आप दूसरों के बारे में आसानी से जान सकते है । उनको बेहतर गाइड कर सकते है ।

● तीसरी आंख खुलने से आप अति सवेदनशील प्राणी बन जायेंगे । आपकी काल्पनिक शक्ति तेज हो जाएगी । आप अच्छे - बुरे के बारे में अच्छी तरीके से जान पाएंगे । हमारा मतलब है आपको ज्यादा आंकलन करने की आवश्यकता नहीं होगी बस एक नजर ही काफी है ।

● आज्ञा चक्र के खुलने से आपकी बौद्धिक क्षमता में तेजी से इजाफा होगा । आप सांसारिक मोह सुख दुख से ऊपर उठकर जीवन आनंद की ओर अग्रसर होंगे । 

 ● Third eye open होने से आप नकारात्मकता से मुक्त हो जाएंगे । आपके भीतर सिर्फ सकारात्मकता का वास होगा । आप विपरीत परिस्थितियों में भी सकारात्मक बने रहेंगे यानी आपका मासिक संतुलन बना रहेगा ।

● तीसरी आंख खुलने से आप अपने कर्मो के प्रति सजग हो जाएंगे यानी आप किसी का बुरा नहीं करेंगे । बुरा नहीं सोचेंगे । आपके भीतर की शक्तियां आप सन्मार्ग की प्रेरित करेगी । 

● Third eye activate होने आपका जीवन आनंद की ओर बढ़ेगा । आपके समस्त दुखो का विनाश हो जायेगा ।

◆ Mediation क्या है ? घर पर मेडिटेशन कैसे करें  

तीसरी आंख या आज्ञा चक्र को खोलने की प्रक्रिया - Third Eye Activation Technique in Hindi

हिंदू धर्म में तीसरी आंख का एक विशेष महत्व है इसे खोलने के लिए योग और ध्यान आदि की विशेष प्रक्रिया नियमित रूप से करने तथा तीसरी आंख भौहों के बीच में ध्यान लगाने से हम एक विशेष दबाव को महसूस करेंगे तबजाकर तीसरी आंख खोलने की प्रक्रिया प्रारंभ होती है तो धीरे-धीरे हमारे अंदर एकाग्रता की शक्ति बढ़ती जाती है और साथ ही हम भौतिक ही दुनिया से परे एक और दुनिया की तरफ देख सकते हैं ।

अपने अंतर्मन में झांक सकते हैं अंदर से अपने आपको प्यूरीफाई भी कर सकते हैं और बुरे विचारों को निकाल कर प्रकृति से जुड़कर एक अलग दुनिया को महसूस कर सकते हैं। तो चलिए जानते है How to activate your third eye permanently -

1. Open Eye Mediation - तीसरी आंख खोलने के लिए ओपन आई मेडिटेशन विधि का प्रयोग कर सकते है । इनके लिए आपको किसी एकांत स्थान में बैठकर अपनी नजरो को एक स्थान पर टिकाएं रखना है । अपना पूरा ध्यान उसी स्थान पर केंद्रित करना है । इसे त्राटक विधि के नाम से भी जाना जाता है । इस विधि का लगातार उपयोग करने पर लाभ होता है ।

2. Heart Chakra Mediation - इसे अनाहत चक्र मेडिटेशन भी कहा जाता है । इसे अपने लक्ष्य पर ध्यान देना होता है । जो अनाहत चक्र से आज्ञा चक्र तक ले जाना होगा । इनके लिए अनेको विधियां है । जिसे आप ह्रदय चक्र से Third Eye Activate कर सकते है ।

3. रेकी ( Reki ) विधि - यह सबसे आसान विधि है । इस साधना से आप 21 दिनों के भीतर Third Eye खोल सकते है । इस साधना से रेकी सीखते हैं तो आपका गुरु स्वयं तीसरी आंख खोल देता है । इसके अलावा राजयोग पद्धति से भी Third eye Activate किया जाता है । मगर इस बात का ध्यान रखें कि अपनी शक्तियों का दुरुपयोग न करें और न ही मजाक का विषय बनने दे । अपनी शक्तियों का उपयोग मानव कल्याण के लिए करें ।

मोनिका गुप्ता

Post Navi

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Ad Code