Ad Code

Ticker

6/recent/ticker-posts

लीवर खराब होने के कारण एवं लक्षण । symptoms of liver disease.

लीवर खराब होने के कारण एवं लक्षण । symptoms of liver disease.



symptoms of liver disease.


symptoms of liver disease in hindi.  शरीर में रक्त को शुद्ध करने का कार्य लीवर करता है। लीवर को हम यकृत और जिगर के नाम से भी जानते है। लीवर की कार्य प्रक्रिया से ही  हमारा भोजन पचता है। लीवर के खराब होने पर भोजन पचने  पर असर पड़ता है। भोजन सही नहीं पचने पर हमें कई रोगों का सामना करना पड़ता है। शरीर में होने वाले कई सारे रोग लीवर से संबंधित होते हैं। जिनके के कुछ symptoms of liver disease देखे जा सकते ।

हमारा लीवर कमजोर हो जाता है तो हमें कई सारे रोगों का सामना करना पड़ता है। लीवर के खराब होने पर खून जमाने के लिए जिस प्रोटीन की जरूरत होती है वह प्रोटीन नहीं बन पाता है जिससे शरीर में इस प्रोटीन की कमी हो जाती है। 

शरीर के महत्वपूर्ण हिस्सों में से लीवर भी एक मुख्य अंग है। चिकित्सा विज्ञान के अनुसार लीवर हमारे शरीर में 500 से भी ज्यादा बॉडी फंक्शन में मदद करता है। हालांकि लीवर में खराबी आने पर शरीर हमें कुछ संकेत पहले ही दे देता है, जिसको हमें पहचानना होता है।

अगर समय पर हम उसकी पहचान कर लेते हैं तो हम लीवर को ठीक करने की ओर आगे बढ़ जाते हैं और कई सारी शारीरिक व्याधियों से बच सकते हैं। 

लीवर कमजोर होने पर शरीर में कई सारी बीमारियां होने लग जाती है जिनमें प्रमुख है-

  • एक्यूट और क्रोनिक हैपेटाइटिस ।
  • हेपेटाइटिस ए, बी, सी, डी और ई ।
  • पीलिया हो जाना ।
  • उल्टी होना, चक्कर आना ।
  • हल्का बुखार रहना ।
  • बदन दर्द जोड़ों में दर्द रहना ।
  • चमड़ी का रंग बदलना खुजली होना ।
  • लीवर कैंसर ।
  • फैटी लीवर । फैटी लिवर के बारे में हमारा पिछला लेख पढ़ें ।


लीवर खराब होने के लक्षण, symptoms of liver disease in hindi.

लीवर शरीर के अंदर का अंग है जो बाहर नहीं दिखता है। किसी व्यक्ति का लीवर खराब हो गया है इस बात की पहचान हो जाती है तो उसका रोग निदान होने की संभावना अधिक बन जाती है । जिससे व्यक्ति के स्वस्थ होने में सहायता मिलती है। इसलिए लीवर खराब हो गया है या हो रहा है इसका पता जितना जल्दी लग जाये और जल्दी से ईलाज मिल जाए तो व्यक्ति गंभीर रोग से ग्रसित नहीं होता है। 

सामान्यतः किसी भी व्यक्ति में लिवर खराब होने के निम्न लक्षण ( symptoms of liver disease ) माने जा सकते हैं -

  • पीले रंग का पेशाब आना ।
  • हरे रंग का पेशाब आना  ।
  • पीले रंग की दस्त आना ।
  • अत्यधिक थकान महसूस होना  ।
  • चोट लगने पर खून बहना जल्दी बंद नहीं होना ।
  • पेट, एड़ी व टखने पर सूजन आ जाना ।
  • त्वचा में खुजली होना ।
  •  पेट में दाएं तरफ दर्द होना ।
  • जी घबराना एवं उल्टी होना ।
  • वजन गिरना ।
  • सांस लेने में परेशानी होना ।
  • कमजोरी महसूस होना ।
  • थकान महसूस होना ।
  • पैरों में सूजन आना ।

Treatment of liver disease.


लीवर की खराबी के कारण । cause of liver disease in hindi.

चिकित्सा विज्ञान के अनुसार लीवर हमारे शरीर में 500 से ज्यादा बॉडी फंक्शन में मदद करता है। इससे यह पता चलता है कि लीवर हमारे लिए कितना महत्वपूर्ण अंग है। यही कारण है कि लीवर द्वारा शरीर में कई प्रकार के काम किए जाने से इस पर बराबर दबाव पड़ता रहता है। इसलिए कभी भी इसके खराब होने, संक्रमित होने या क्षतिग्रस्त होने की संभावना बनी रहती है।

  • हमारी आहार-विहार और दिनचर्या व खानपान लीवर को प्रभावित कर सकती है। हम लोग बिना सोचे समझे चिकित्सक से परामर्श किए बिना खुद ही सीधे मेडिकल स्टोर से कई बार कई तरह की दवाइयां लेने लग जाते हैं और खुद डॉक्टर बन जाते हैं । यही सबसे बड़ा कारण है लीवर के खराब होने का ।

  • आमतौर पर मिलने वाली दवाई पेरासिटामोल का हम अधिक उपयोग कर लेते हैं जिससे लीवर को बहुत ज्यादा क्षति पहुंचती है। 
  • शराब का सेवन करने से भी लीवर को नुकसान पहुंचता है। 
  • अत्यधिक शराब पीना, मोटापा, डायबिटीज और किसी दवा के साइड इफेक्ट से लीवर में फैट जमा होनी शुरू हो जाती है। जिससे फेटी लीवर की समस्या हो जाती है । 
  • आपको जानकर आश्चर्य होगा कि लीवर को जब कभी क्षति पहुंचती है तो वह उसकी मरम्मत खुद कर लेने में सक्षम होता है । लेकिन बार-बार उस पर हमारी गलत खान-पान और दिनचर्या का बुरा असर पड़ता है । इससे  फिर लीवर में घाव हो सकते हैं जो वह अन्य गंभीर बीमारियों का कारण बनते है । 

  • कभी-कभी संक्रमण, गंदगी और खराब, दूषित रक्त चढ़ाने के कारण भी लीवर को नुकसान पहुंचता है ।
  • लीवर को सिरोसिस हेपेटाइटिस कैंसर जैसी कुछ विषैले तत्वों के कारण भी क्षति पहुंचती है ।


लीवर को सुरक्षित रखने के उपाय । Treatment of liver disease in hindi.

हम सभी जानते हैं कि लीवर हमारे शरीर के 500 प्रकार के के बॉडी फंक्शन से जुड़ा होता है इस कारण से लीवर को सुरक्षित और स्वस्थ रखना जरूरी हो जाता है । हमें लीवर को सुरक्षित रखने के लिए कुछ बातों का ध्यान नियमित रूप से रखना होगा जिससे लीवर को हम लोग सुरक्षित रख सके । 

अगर हमारा लीवर सही और सुरक्षित है तो हम अपने आप को स्वस्थ और अधिक ऊर्जावान महसूस करते हैं और बेहतर जीवन जी सकते है ।  

सामान्यतः हमें लीवर को स्वस्थ और सुरक्षित रखने के लिए निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए -


  • अधिक शराब का सेवन नहीं करना चाहिए। शराब का सेवन बिलकुल बंद कर देना चाहिए ।
  • अगर कभी शरीर में रक्त चढ़ाने की जरूरत पड़े तो प्रामाणिक प्रतिष्ठित ।
  • चिकित्सा संस्थान से ही रक्त चढ़ाने की सुविधा का उपयोग ले ताकि हमें किसी प्रकार के संक्रमण से हानि नहीं हो ।
  • हेपेटाइटिस ए तथा बी का टीका लगवाना ।
  • स्वच्छता का ध्यान रखना ।
  • बाहर खुले में बने हुए या रखे हुए चाट पकौड़ी आदि खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना ।
  • खुले में रखी हुई फल सब्जियों आदि को अच्छे पानी से धोकर धोकर उपयोग में लेना ।
  • वजन को नियंत्रित रखना और नियमित पौष्टिक आहार लेना ।
  • अपनी मनमर्जी से कोई दवाई नहीं लेना।
  • आहार-विहार व दिनचर्या पर ध्यान देना और स्वास्थ्यप्रद खाना नियमित  समय पर खाना।
  • शरीर में लीवर की खराबी का कोई भी लक्षण दिखने पर तुरंत चिकित्सक से संपर्क करना, जांच करवाना और चिकित्सक के सुझाव अनुसार समय पर दवाई लेना और दिनचर्या का ध्यान रखना।


अपनी बात

जैसे-जैसे सूचना तंत्र का विकास हुआ है वैसे वैसे हम लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक हुए है। हम कई बीमारियों के लक्षण कारण और उपचार से भी जानकार होने लगे है। कुछ उपचार तो हम स्वयं ही कर लेते हैं। लेकिन अगर स्थाई रूप से शरीर में रोगों को भगाना है तो हमें किसी भी प्रकार का रोग का लक्षण दिखने पर तुरंत अच्छे चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए और उसे अपनी शारीरिक व्याधियों के लक्षण बता कर उपचार लेना चाहिए। जिससे समय पर हम लोग रोग पर विजय प्राप्त कर सकें।  

लीवर के संबंध ( symptoms of liver disease ) में हम यह ध्यान रख सकते हैं कि लीवर खराबी के एक भी लक्षण को पहचान लेते हैं तो हमें लीवर की जांच चिकित्सक के मार्ग दर्शन में करानी चाहिए और समय पर सावधानी पूर्वक उपचार भी लेना चाहिए, जिससे हम स्वस्थ रह सके और परिवार को किसी प्रकार का कष्ट भी नहीं पहुंचे।

स्त्रोत - Global health tricks

 मंगल कुमार जैन उदयपुर राजस्थान 


Read more posts -

तुलसी का महत्व एवं औषधीय गुण । Benefits of tulsi

बवासीर ( पाइल्स ) के कारण, लक्षण, बचाव एवं घरेलू उपाय

मोटापा कम करने के असरदार घरेलू उपाय

Post Navi

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Ad Code