Ad Code

Ticker

6/recent/ticker-posts

किसी भी बैंक का स्विफ्ट कोड कैसे पता करें । What is a Swift code in hindi.

किसी भी बैंक का स्विफ्ट कोड कैसे पता करें । What is a Swift code in hindi.


What is a swift code.

What is swift code in hindi. वर्तमान युग आधुनिक संसाधनों का युग हैं जिसमें नवाचार ही इस युग की मुख्य आवश्यकता हैं। आवश्यकता अविष्कार की जननी हैं, जैसे जैसे हम आधुनिकता की ओर अग्रसर हो रहे हैं नए नए नवाचार हमारे सामने आते जा रहे हैं। उनमें से एक जिसके बारे में हम जानते हैं वह हैं स्विफ्ट कोड (Swift Code)। हम समझते कि यह हैं क्या ? आज व्यापार केवल राष्ट्रीय स्तर तक नही सीमित हैं व विदेशों में भी अपना वर्चस्व बना चुका हैं या यूं कहें कि हर व्यापारी अपना व्यापार देश के कौने कौने में फैलाना चाहता हैं जब वह दूसरे देशों में व्यापार करता हैं या अन्य देशों के साथ मौद्रिक व्यवहार करता हैं तो इस प्रकार के व्यवहारों के लिए बैंकों द्वारा एक कोड निर्धारित किया जाता हैं जिसे स्विफ्ट कोड कहते हैं।

Also Read -

डेयरी खोलने के लिए लोन कैसे ले । Dairy loan kaise len.

आई पी ओ में निवेश कैसे करें । IPO full form in hindi.

स्विफ्ट कोड क्या है । What is swift code in hindi.

Swift code एक 11 डिजिट का नम्बर है । जिनका उपयोग बैंकिंग क्षेत्र में विदेशों से धन का लेन देन के लिए किया जाता है । इन कोड में बैंक का स्थान, लोकेशन, ब्रांच सहित तमाम जानकारी शामिल होती है । अंतराष्ट्रीय ट्रांजेक्शन के लिए यह पूर्णतः सुरक्षित माना जाता हैं। जब विदेशों से कोई राशि बुलाई या भेजी जाती हैं तो स्विफ्ट कोड के माध्यम से व्यवहार होता हैं इसी कोड से उस देश का नाम भी प्राप्त हो जाता हैं। देश के भीतर रुपये के लेनदेन के लिए IFSC कोड का उपयोग होता हैं वैसे ही देश के बाहर के ट्रांजेक्शन के लिए स्विफ्ट कोड का उपयोग होता हैं।


SWIFT का फुल फॉर्म क्या हैं ? Swift code full form in hindi.

स्विफ्ट कोड की फुल फॉर्म - sociaty for worldwide interbank financial  telecommunication code होता हैं।


स्विफ्ट कोड का उपयोग कहां पर किया जाता हैं ?

विदेशी व्यवहार के अंतर्गत जब धनराशि दूसरे देश से बुलाई या भेजी जाती हैं तब स्विफ्ट कोड का उपयोग किया जाता हैं। यह कोड बैंक की लोकेशन, बैंक का नाम, ब्राँच की जानकारी व कंट्री की जानकारी भी दे देता हैं।


स्विफ्ट कोड कितने डिजिट या कैरेक्टर का होता हैं ?

Swift code के कई नाम हैं जैसे ISO 9362, SWIFT- BIC, SWIFT ID etc. ये सभी codes Business Identifier Codes के Standard Format हैं जिसे की International Organization For Standardization (ISO) ने approve किया हैं।

 IFSC की तरह SWIFT कोड भी एक यूनिक कोड हैं जो 11 कैरेक्टर का होता हैं । इन 11 डिजिट्स के माध्यम से मनी ट्रांजेक्शन की पूरी डिटेल हमें प्राप्त हो जाती हैं। स्विफ्ट कोड को निर्धारित करते समय चार मुख्य बातों का विशेष ध्यान रखा जाता हैं। 

  •  बैंक कोड - बैंक कोड के लिए A से Z तक के अल्फाबेट्स में से कोई भी चार कैरेक्टर लिए जाते हैं। जैसे CBIN । ये कैरेक्टर बैंक की जानकारी देते हैं कि बैंक का नाम क्या हैं ?
  • देश कोड - देश कोड के लिए भी A से Z तक के अल्फाबेट्स में से दो (2) कैरेक्टर लिए जाते हैं जो कंट्री को बताने का काम करते हैं जैसे - IN  ये दो कैरेक्टर बैंक कहां पर हैं उस देश को बताते हैं।
  • स्थान कोड - स्थान कोड मतलब स्विफ्ट कोड के सातवें व आठवें नम्बर की पोजिशन। ये पोजिशन न्यूमेरिकल भी हो सकती हैं या अल्फाबेट में भी हो सकती हैं। स्थान कोड बैंक के स्थान (लोकेशन) को बताता हैं। अर्थात बैंक देश के किस स्थान पर स्थित हैं। जैसे - HD 
  • शाखा कोड - स्विफ्ट कोड के अंतिम 3 कैरेक्टर  न्यूमेरिकल होते हैं अर्थात 0 से 9 तक के अंकों में। जो बैंक लोकेशन की शाखा (ब्रांच) की स्थिति को बताते हैं।  जैसे -123, उदाहरण - स्विफ्ट कोड - CBIN IN HD 123


भारत में कौन कौन से बैंक Swift Code प्रदान करते हैं ?

भारत में निम्न बैंक स्विफ्ट कोड प्रदान करते हैं -

1.  Swift Code of SBI

2.  Swift Code of ICICI

3.  Swift Code of PNB

4.  Swift Code of HDFC

5.  Swift Code of Bank of Baroda

6.  Swift Code of Allahabad Bank

7.  Swift Code of Union Bank

8.  Bank of India Swift Code.


Swift code kaise pata kare.


किसी भी बैंक का स्विफ्ट कोड कैसे पता करें | swift code finder -

विदेशों से मौद्रिक व्यवहार करने में यह कोड महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं यदि हमें विदेश से राशि प्राप्त करनी हैं या भेजनी हैं तो सबसे बड़ा प्रश्न यह रहता हैं कि हम बैंकों का स्विफ्ट कोड कैसे पता करें । एक आसान प्रक्रिया के द्वारा हम पता कर सकते हैं कि किस देश का स्विफ्ट कोड क्या हैं ? उसके लिए हमें कुछ बेसिक डिटेल चाहिए रहती हैं।

यह एक अंतरराष्ट्रीय कोड हैं, स्विफ्ट कोड ( Swift code or BIC code ) पता करने के लिए आगे आपको कुछ स्टेप्स बतायी गई है जिससे आप अपने बैंक ब्रांच का स्विफ्ट कोड पता कर सकेंगे।

1. सबसे पहले आपको गूगल पर स्विफ्ट कोड सर्च करना है वहां पर आपको स्विफ्ट कोड चेक करने की बहुत सी लिंक मिल जाएगी। जैसे ही हम लिंक पर क्लिक करेंगे हमें वहां चार ऑप्शन दिखाई देंगे जो डाउन विंडों के फॉर्म में होंगे।उसमें आपको जिस भी देश या वहां की बैंक का स्विफ्ट कोड जानना हो जान सकते हो। उसकी प्रक्रिया निम्न हैं -

किसी भी बैंक का swift code पता करने के सबसे पहले स्विफ्ट कोड की वेबसाइट swift code finder पर क्लिक करें । फिर चाही गई सूचनाएं भरे जैसे - 

● सर्वप्रथम आपको कंट्री अर्थात देश को सेलेक्ट करना हैं। डाउन विंडो में विभिन्न देशों के नाम आते हैं उसमें से हमें देश का चयन करना हैं।

● उसके बाद आपको Select a Bank के ऑप्शन को क्लिक करने की जरुरत होगी जिसमें बैंक का चुनाव करना होगा।

● फिर अपना राज्य या State सिलेक्ट करे।

● अगले ऑप्शन में आपकी City यानि जिस शहर में आप रहते है वह सिलेक्ट करे।

● अंतिम प्रक्रिया में आपको अब  बैंक Branch को सिलेक्ट करे।

● इसके बाद स्क्रीन पर आपके बैंक ब्रांच का स्विफ्ट कोड आ जाएगा और उसके नीचे बैंक से जुड़ी सारी जानकारी भी आ जाएगी।

Swift Code Transfer कैसे काम करता है ?

ये एक बहुत ही बड़ा Messaging Network है जिसे की Banks और Financial Institution प्रयोग करते हैं पैसे transfer करने के लिए ये सुरक्षित एवं एक्यूरेट और secure method है । हर दिन लगभग 10,000 SWIFT Members, अप्रोक्स 24 Million मेसेज इस नेटवर्क का उपयोग करते हैं। वास्तव में स्विफ्ट कोड कार्य कैसे करता हैं या इसमें अमाउंट ट्रांसफर कैसे होता हैं इस पूरी प्रक्रिया को एक उदाहरण से समझ सकते हैं।

मान लीजिये की दो व्यक्ति हैं पहला A और दूसरा B. A अपने बैंक से B के account में पैसे भेजना चाहता है जो की किसी दूसरे देश में रहता है.इसके लिए A अपने बैंक में जाकर अपने दोस्त का account number और दोस्त के बैंक का swift code ले लेता है,जब वह बैंक से अमाउंट भेजने को कहता है तब बैंक उसकी राशि Swift Message के द्वारा B के अकाउंट में भेज देता हैं secure SWIFT Network के through.यह प्रक्रिया पूरी होती हैं।जब B की ब्रांच यह message प्राप्त कर लेती हैं तब वो अपनी तरफ से ये confirm कर लेते हैं की उन्होंने Payment प्राप्त कर लिया है और फिर वो उस राशि को B के account में deposit कर देते हैं।


Swift Code के पहले की दुनिया कैसी थी ?

स्विफ्ट कोड के पहले विदेशी व्यवहार तो होता था लेकिन रुपयों के लेनदेन में सुरक्षा का अभाव रहता था।पहले की बात करें तो दो देशों के मध्य रुपये के लेन देन में टेलेक्स का उपयोग होता था जो बहुत ही स्लो था।इसकी स्पीड बहुत कम थी और इसका कोडिंग सिस्टम कमजोर था। जब कोई एक कंट्री से दूसरी कंट्री में लेनदेन होता था तो मेसेज सेंड करने वाले और रिसिव्ड करने वाले को लंबी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता था जिससे उसकी स्पीड कम हो जाती थी।स्विफ्ट कोड के पहले विदेशी ट्रांजेशन होता तो था परन्तु समय अधिक लगता था और जोखिम भी अधिक था।नवाचार की इस प्रणाली ने दो देशों के मध्य राशि को हस्तांतरित करने की प्रक्रिया को अत्यंत सरल व सहज बना दिया हैं।


स्विफ्ट कोड का प्रयोग कौन करता है ? Swift code for banking.

कई सारी मुश्किलों को हल करने के लिए SWIFT System को बनाया गया । इसकी शुरुआत वर्ष 1974 में हुई। प्रारंभिक दौर में सबसे पहले दुनिया के 7 बड़े बैंकों ने इसमें भाग लिया। और समय के साथ साथ इसमें कई बैंक ने धीरे धीरे जुड़ते गए।शुरुआत में स्विफ्ट कोड को बहुत कम क्षेत्रों में उपयोग किया जाता था, लेकिन यह नेटवर्क इतना सुरक्षित, सही और तेजी से काम करता हैं इसकी उपयोगिता को देखते हुए,इसका इस्तेमाल बैंकिंग लेन-देन में करने के बारे में सोचा गया। और आज दुनिया का हर वित्तीय संस्थान और बैंक विदेशी लेनदेन के लिए इसका उपयोग कर रहे हैं। और यह पूरी दुनिया में अपने सुरक्षित, सही और तेज़ नेटवर्क के लिए जाना जाता हैं। आज SWIFT CODE का प्रयोग निम्न प्रकार के प्रकल्प कर रहे हैं---

  1. बैंक
  2. ब्रोकरेज संस्थान और ट्रेडिंग हाउस
  3. प्रतिभूति डीलर
  4. संपत्ति प्रबंधन कंपनियां
  5. डिपॉजिटरी
  6. एक्सचेंज ऑफिस
  7. कॉर्पोरेट बिजनेस हाउस
  8. ट्रेजरी मार्केट पार्टिसिपेंट्स और सर्विस प्रोवाइडर्स
  9. विदेशी मुद्रा और मुद्रा दलाल
  10. पूंजी और शेयर बाजार


क्या हम SWIFT Transfer को Track कर सकते हैं ?

एक customer को swift terminal को access करने की अनुमति नहीं दी जाती हैं यह काम केवल आपके respected बैंक ही कर सकते हैं।अगर आपके किसी ट्रांजेक्शन में कोई दिक्कत दिखयी दी है तब आप अपने नजदीकी Bank से संपर्क कर सकते हैं । वो आपकी समस्या का हल जल्द ही निकालकर सॉल्व कर देंगे।

इसमें स्विफ्ट के जैसे unified system of codes का इस्तमाल नहीं होता था जिस कारण इसकी ट्रांसक्शन प्रॉसेस की गति  बहुत ही धीमी थी । इसमें sender को सभी transaction को descibe करना पड़ता था sentences के द्वारा और फिर receiver को उन्ही messages को फिर से interpret करके execute करना पड़ता था इसी काम के दौरान काफी mistakes भी होते थे ।


SWIFT System सबसे आगे क्यूँ है ?

विदेशी मौद्रिक व्यवहारों के लिए यह सिस्टम अनिवार्य हैं

इसकी उत्पत्ति के 3 वर्षों  के बाद ही Swift कोड membership ने अपनी संख्या को 230 के पार पहुंचा दिया।ये संख्या धीरे धीरे और भी बढ़ती ही जा रही है।ऐसी transaction की व्यवस्था तो बहुत हैं जैसे Fedwire, Ripple और CHIPS लेकिन किसी ने भी SWIFT को कभी टक्कर नहीं दे पाई। स्विफ्ट सिस्टम पूर्णतः सुरक्षित एवं उपयोगी हैं।

तो मित्रो हमे आशा है आज लेख what is swift code आपके लिए उपयोगी रहा होगा । आप अपने विचार हमारे कमेंट बॉक्स में लिखे ।। कपिल कुमार दुबे ।।

Post Navi

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Ad Code